गेंहू के डंठल और भूसे के पैनल से कम लागत में मकान तैयार किया…अमेरिकी बिजनेस पत्रिका फोर्ब्स ने शामिल किया इस युवा वैज्ञानिक का नाम

218

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की श्रीति पांडे का नाम अमेरिकी बिजनेस पत्रिका फोर्ब्स युवा वैज्ञानिक की लिस्ट में शामिल किया गया है। 30 लोगों की सूची में एशिया के उन युवा वैज्ञानिकों का नाम शामिल किया गया है जिन्होंने उद्योग, विनिर्माण, ऊर्जा के क्षेत्र में कोई ऐसा शोध किया हो जो समाज और उद्योग जगह के लिए उपयोगी हो।

गोरखपुर की श्रीति पांडे को ये उपलब्धि उनके उस शोध के लिए मिली है। जिसमे उन्होंने गेंहू के डंठल और भूसे के पैनल से कम लागत में मकान तैयार किया था। उनकी इस खोज पर सभी हैरत में थे। श्रीति ने इस खोज के जरिए केवल अपने कॉलेज में ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश में भी कई भवन बनाकर तैयार किए हैं। यहां तक कि बिहार में पिछले साल कोविड अस्पताल का निर्माण इसी तकनीक की मदद से बेहद कम लागत में किया गया था।

श्रीति की इस खोज पर संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से सराहना भी की जा चुकी है। वहीं उन्हें 2019 में सम्मानित भी किया गया था। एशिया-30 में नाम शामिल होने से उत्साहित श्रीति ने बताया कि उनके इस प्रोजेक्ट को प्रदेश सरकार ने स्टार्टअप में शामिल कर लिया है। प्रयोग को व्यवसाय के धरातल पर उतारकर लोगों तक पहुंचाने के लिए कंपनी स्थापित कर ली गई है। गोरखपुर के आसपास इसका उद्योग लगाया जाएगा जिससे पूर्वांचल के लोगों को इसका सर्वाधिक लाभ मिल सके।

Live Cricket Live Share Market

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here