मिठाई से दिया शांति का संदेश…किसान रोज बना रहे 5 क्विंटल हरी जलेबियां,हरे रंग की जलेबियों का संबंध उनकी फसल और सुख-समृद्धि से है

361

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान कभी पिज्जा स्टॉल लगाकर तो कभी हरी जलेबियां बनाकर सुर्खियां बटोर रहे हैं। उनका मानना है कि हरे रंग की जलेबियों का संबंध उनकी फसल और सुख-समृद्धि से है। पंजाब के मोहाली में रहने वाले किसानों का एक ग्रुप सिंधु बॉर्डर पर ये जलेबिया सर्व कर रहा है।

एक किसान जसवीर चंद ने बताया – ”हम यहां पिछले कुछ दिनों से हरे रंग की जलेबी सर्व कर रहे हैं। एक दिन में लगभग 5 क्विंटल जलेबी सर्व की जाती है”। जसवीर के भाई बलदेव सिंह के अनुसार, ”इन जलेबी का हरा रंग ग्रीन रिवोल्यूशन का संदेश भी देता है। साथ ही यह रंग शांति का प्रतीक है। वैसे भी हम इतने दिनों से शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जब तक सरकार हमारी मांगें पूरी नहीं करती, हम शांति के साथ अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे”। सिंधु बॉर्डर पर जलेबियों को खाने वाले लोग लंबी लाइन लगाकर खड़े रहते हैं। किसानों का कहना है कि उनकी हरी जलेबियां खाने के लिए लोग दूर-दूर से आ रहे हैं।

Live Cricket Live Share Market

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here