सफलता संयोग नहीं है…आपको समर्पण की आवश्यकता पड़ती है…कोरोना से जंग में भविष्य की तैयारी…अस्पताल में CA एग्जाम की तैयारी कर रहा कोरोना संक्रमित युवक

199

देश कोरोना वायरस महामारी के सबसे बुरे प्रकोप का सामना कर रहा है।कोरोना की दूसरी भयावह लहर बड़ी संख्या में युवाओं को अपनी चपेट में ले रही है। इस बीच कोविड के चलते छात्रों और उम्मीदवारों की परीक्षाओं को भी स्थगित कर दिया गया है, बावजूद इसके कुछ युवा अपने एग्जाम की तैयारी में जी जान से जुटे हुए हैं।

कोरोना से जंग में भविष्य की तैयारी
ओडिशा के एक कोविड अस्पताल में भर्ती एक मरीज को हस्पिटल के बेड पर ही चार्टर्ड एकाउंटेंट्स (सीए) की परीक्षा की तैयारी करते देखा गया। मोटी-मोटी किताबें और पास में कैलकुलेटर रखे युवक की इस फोटो को आईएएस अधिकारी विजय कुलंग ने अपने ट्विटर पर पोस्ट की है। फोटो में एग्जाम की तैयारी कर रहे कोरोना मरीज ने फेस मास्क और चश्मा पहना हुआ है। वह अपने पास पीपीई किट में खड़े तीन लोगों से बात करता नजर आ रहा है।

अस्पताल में सीए की तैयारी करता कोरोना मरीज
सोशल मीडिया पर यह फोटो अब जमकर वायरल हो रही है, यूजर्स युवक की लगन की खूब प्रशंसा कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह फोटो उस समय ली गई जब गंजम जिले के जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर कुलंग ने बेरहामपुर के एमकेसीजी मेडिकल कॉलेज अस्पताल का दौरा किया। आईएएस अधिकारी विजय कुलंग ने फोटो पोस्ट करते हुए अस्पताल में सीए की तैयार कर रहे शख्स की तारीफ की।

आईएएस अधिकारी ने पोस्ट में कही ये बात
उन्होंने पोस्ट के कैप्शन में लिखा, ‘सफलता संयोग नहीं है। आपको समर्पण की आवश्यकता पड़ती है। मैंने एक कोविड अस्पताल का दौरा किया और इस शख्स को अस्पताल के बेड पर सीए परीक्षा के लिए पढ़ाई करते पाया।’ फोटो अब सोशल मीडिया पर लोगों के लिए प्रेरणा बन रही है, खबर लिखे जाने तक आईएएस अधिकारी के पोस्ट पर 10,000 से अधिक लाइक आ चुके हैं। कई लोगों ने कोरोना से जूझते हुए सीए परीक्षा की तैयारी के लिए युवक के कठिन परिश्रम की तारीफ की।

यूजर्स ने उठाया बेड की कमी का मुद्दा
वहीं, कुछ यूजर्स ने अस्पतालों में बेड की कमी का मुद्दा उठाते हुए सुझाव दिया कि उनके अस्पताल के बिस्तर को ऐसे समय में अधिक गंभीर रोगियों के लिए बचाया जा सकता है। ऐसे समय में जब देश के कई हिस्सों में अस्पताल बेड, ऑक्सीजन और दवाई की कमी से जूझ रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, यह अच्छा है कि वह एग्जाम की तैयारी कर रहा है और उम्मीद नहीं खोई है। लेकिन उन्हें घर में क्वारंटीन होने के लिए कहा जाना चाहिए और बिस्तर किसी अन्य गंभीर व्यक्ति को दिया जाना चाहिए।

Live Cricket Live Share Market

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here