ठेले पर सब्जी बेच रहे थे नेशनल पदक विजेता प्लेयर,खेलप्रेमियों ने मदद कर बदल दी जिंदगी

260

मेरठ के कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम के दो प्लेयर पिता की नौकरी छूटने से सब्जी का ठेला लगाकर जिंदगी चला रहे थे. उनकी खबरें मीडिया में आईं, इसके बाद खेल मंत्री ने इसे संज्ञान में लिया. मंत्रालय ने दोनों भाइयों को 5-5 लाख रुपये देने की घोषणा की है.

अक्षयलाल 23 साल से स्टेडियम में संविदा पर नौकरी कर रहे थे. लेकिन, कोरोना काल में उनकी नौकरी चली गई. ऐसे में परिवार को चलाने के लिए उनके दोनों बेटे सब्जी बेचने लगे. उनका एक बेटा सुनील चौहान खेलो इंडिया में बॉक्सिंग में स्वर्ण पदक विजेता है. वहीं, ऑल इंडिया यूनिवर्सिटी बॉक्सिंग टूर्नामेंट में ब्रॉन्ज मेडल भी जीत चुका है.

वहीं, दूसरा लड़का नीरज राष्ट्रीय तिरंदाजी में सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीत चुका है. लेकिन, कोरोना काल में जीविका चलाने के लिए दोनों भाइयों को ठेले पर  सब्जी बेचना पड़ा. इसकी चर्चा शहर से लेकर हर तरफ थी.

हालांकि, इसकी खबर आने के बाद लोग उनके घर पहुंचकर मदद कर रहे थे. जिले के कई खेलप्रमियों ने भी दोनों भाइयों को मदद की. इसके बाद मीडिया में भी खबरें आई. अब खेल मंत्रालय ने बड़ी मदद की है.

Live Cricket Live Share Market