*ग्राम पंचायत के अग्रिम पंक्ति में खड़ा ग्राम पंचायत सचिव…कोरोना वारियर्स की अहम भूमिका में अपने कर्त्तव्यों के पालन में लगे हुए थे तभी युवक ने किया प्राणघातक हमला…अन्य राज्य में प्रवास से आये युवक का फोटो लेकर जानकारी भेजना सचिव को पड़ा महंगा..सचिव संघ ने घटना का किया निंदा प्रस्ताव पारित*

1185

राजनांदगांव:हजारो प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला छत्तीसगढ़ में जारी है।कोरोना वायरस संक्रमण काल मे ग्राम पंचायत की भूमिका महत्वपूर्ण है।इसी कड़ी में ग्राम पंचायत सचिवों द्वारा अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन बखूबी निभाया जा रहा है।अपने ग्राम पंचायतो में रहने वाले लोगो की सुरक्षा पहली प्राथमिकता है।जबकि पंचायत सचिव को किसी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा सरकार मुहैया नही करवाई है।बीमा का भी प्रावधान नही है।दूसरी ओर नागरिकों द्वारा भी सचिवों के ऊपर हमले तेज हो गए है,जो चिंता का विषय है।

गौरतलब है कि राजनांदगांव जिला अंतर्गत ग्राम पंचायत गातापारकला में एक सचिव के ऊपर सिर्फ इस बात को लेकर प्राणघातक हमला किया गया कि वह अन्य राज्य में प्रवास से लौटे युवक का पहचान कर जानकारी प्रशासन के समक्ष भेजा था,इस बात से बौखलाए युवक ने मौका देखकर न सिर्फ सचिव पर प्राणघातक प्रहार किया बल्कि शासकीय कार्य में लगे सचिव के कार्य को भी प्रभावित किया है। जिसके विरुद्ध प्रदेश भर में सचिव संघ के द्वारा निंदा प्रस्ताव पास कर कार्यवाही का मांग किया जा रहा है।

ज्ञात हो की ग्राम पंचायत गातापारकला में पदस्थ सचिव अमरुल लाल साहू प्रोटोकॉल डुएटी के दौरान गुरुवार की शाम 7 बजे गातापारकला में स्थित क्वारेनटाइन सेंटर पहुंचा था,इस दौरान यहाँ क्वारेंटाइन किये गए पिंटू पटेल ने मौका देखकर हमला कर दिया,इस घटना में सचिव को बुरी तरह घायल हो गया है।बताया जा रहा है कि पिंटू पटेल (प्रवासी मजदुर)अन्य राज्य से प्रवास के बाद यहाँ वापस आया था,जिसका जानकारी नियमानुसार सचिव के द्वारा शासन को भेजते हुवे फोटो भी पिंटू पटेल का मोबाइल में क्लिक किया गया था,जिसके बाद से पिंटू को क्वारेनटाइन सेंटर में रखा गया है।

इस घटना से खिन्न हो पिंटू ने सचिव पर जानलेवा प्रहार किया है। इसी प्रकार दूसरी घटना बढ़ाईकेला पंचायत में भी घटित हुआ जिसमें भी सचिव ज्ञानदास साहू के साथ गाली गलौज करते हुवे रामचरण गौड़ ने शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाया है। दोनों घटना की प्रदेश भर में निंदा हो रही है।कोंडागांव जिला सचिव संघ ने भी इस घटना की निंदा की है,जिसका जानकारी देते हुए प्रदेश सह सचिव विश्वनाथ देवांगन ने बताया कि घटना पर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही का मांग किया जा रहा है।प्रदेश में किसी और सचिव के साथ ऐसी घटना न हो इस बावत् प्रशासन से भी सहयोग व सुरक्षा का मांग किया जाता है,साथ ही घटना के विरुद्ध निंदा प्रस्ताव पास किया गया है।

Live Cricket Live Share Market